Close

विटामिन सी से भरपूर फल और सब्जियां, इम्यूनिटी बढ़ाने के अलावा ये हैं विटामिन सी के फायदे

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए विटामिन सी (Vitamin C) बहुत जरूरी है. विटामिन सी से रोगप्रतिरोधक क्षमता मजबूत (Boost Your Immunity) होती है और शरीर किसी भी संक्रमण से लड़ने (Infection) के लिए तैयार होता है. विटामिन सी में एंटीऑक्सीडेंट (Antioxidants) गुण होते हैं जिससे शरीर के विषाक्त (Detox) और हानिकारक पदार्थ नष्ट हो जाते हैं. त्वचा के लिए भी विटामिन सी (Vitamin C for Skin) बहुत जरूरी है. घाव को ठीक करने और शरीर को मजबूत बनाने के लिए विटामिन सी की जरूरत पड़ती है. कोरोना महामारी (Coronavirus) के दौर में इम्यूनिटी को मजबूत (Immunity) बनाने के लिए डॉक्टर्स विटामिन सी लेने की लेने की सलाह दे रहे हैं. विटामिन सी के सप्लीमेंट के अलावा आप नेचुरल खाद्य पदार्थों से भी शरीर में इसकी कमी को पूरा कर सकते हैं. जानते हैं विटामिन सी से भरपूर प्राकृतिक स्रोत (Natural Source of Vitamin-C) कौन से हैं.

विटामिन सी के प्राकृतिक स्रोत (Natural Food Source Of Vitamin C)

1- आंवला- आंवला में भरपूर मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है. आवंला को विटामिन सी का भंडार कहा जाता है. एक मीडियम साइज के आवंला में करीब 600 मिग्रा विटामिन सी होता है.

2- टमाटर- सब्जियों में स्वाद बढ़ाने वाला टमाटर भी विटामिन सी से भरपूर होता है. टमाटर में प्रचुर मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है. टमाटर से शरीर में रोजाना की विटामिन सी की कमी को पूरा किया जा सकता है.

3- ब्रोकोली- हरी सब्जियों में भी विटामिन सी पाया जाता है. ब्रोकोली विटामिन सी का अच्छा सोर्स है. पोषक तत्वों से भरपूर ब्रोकली खाने में भी स्वादिष्ट लगती है. ब्रोकोली से शरीर में विटामिन सी, फोलेट, आयरन और विटामिन ए की कमी को पूरा किया जा सकता है. रोजाना ब्रोकली खाने से शरीर में विटामिन सी की कमी नहीं होगी.

4- आलू- सब्जियों का राजा आलू भी विटामिन सी का अच्छा सोर्स है. भारतीय खाने में आलू सभी घरों में इस्तेमाल किया जाता है. आलू में पोटैशियम की मात्रा भी हाई होती है, जिससे कमजोरी को दूर किया जा सकता है.

5- आम- फलों में आम स्वाद और सेहत से भरपूर होता है. आम में विटामिन सी पाया जाता है जिससे इम्यूनिटी स्ट्रॉंग होती है. एक मीडियम आम से आपको करीब 122 मिलीग्राम विटामिन सी मिलता है. इसके अलावा आम में विटामिन ए भी काफी पाया जाता है.

6- अमरूद- विटामिन सी का सस्ता और अच्छा स्रोत है अमरूद. अमरूद में संतरे से कही अधिक विटामिन सी पाया जाता है जिससे इम्यूनिटी मजबूत होती है. एक मीडियम अमरूद में 200 ग्राम पोषक तत्व होते हैं.

7- पपीता- पपीता पाचन के लिए सबसे अच्छा माना जाता है. पपीता में विटामिन सी भी काफी मात्रा में पाया जाता है जिससे हमारी रोगप्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है.

8- स्ट्रॉबेरी और कीवी- विटामिन सी का एक अच्छा सोर्स स्ट्रॉबेरी भी है. स्ट्रॉबेरीज में काफी मात्रा में एंटीऑक्सिडेंट पाए जाते हैं इसके अलावा स्ट्रॉबेरी विटामिन सी और कई दूसरे पोषक तत्वों से भरापूर फल है. एक कप स्ट्रॉबेरी में करीब 100 मिलीग्राम विटामिन सी पाया जाता है. विटामिन सी के लिए कीवी भी अच्छा फल है. एक कीवी आपको करीब 85 मिलीग्राम विटामिन सी देता है. इसके अलावा कीवी में विटामिन के और ई भी काफी मात्रा में पाया जाता है.

9- अनानास- विटामिन सी के लिए आप अनानास भी खा सकते हैं. इससे इम्यूनिटी मजबूत होती है. साथ ही हड्डियों को मजबूत बनाता है. अनानास में मैंगनीज भी पाया जाता है जो फलों में काफी कम होता है. 1 कप अनानास में करीब 79 मिलीग्राम विटामिन सी होता है.

10- संतरा और नींबू- संतरा और नींबू दोनों विटामिन सी से भरपूर फल हैं. संतरे में फैट, कोलेस्ट्रॉल और सोडियम बहुत कम होता है. संतरा हार्ट और आंखों के लिए बहुत फायदेमंद है. संतरा खाने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है.

विटामिन सी के फायदे

1- विटामिन सी में भरपूर एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जिससे शरीर में जमा जहरीले तत्व बाहर निकल जाते हैं.
2-  विटामिन सी इम्यून सिस्टम बेहतर तरीके से काम करता है. जिससे इंफेक्शन्स और बीमारियों से लड़ने की ताकत आती है.
3- विटामिन सी खाने से मिलने वाले आयरन के अवशोषण में भी मदद करता है.
4- विटामिन सी से स्किन को हेल्दी रहती है.
5- विटामिन सी हड्डियां को मजबूत बनाने में भी मदद करता है.
6- चोट या घाव को भरने में भी विटामिन सी की भूमिका रहती है.
7- आंखों की रौशनी और नाखून संबंधी बीमारियों के लिए भी विटामिन सी बहुत जरूरी है.

विटामिन सी की कमी से बामारियां

1- विटामिन सी की कमी से मसूड़ों में सूजन और खून आना शुरु हो जाता है.
2- कई लोगों के शरीर में विटामिन सी की कमी से त्वचा पर लाल चकत्ते यानि Rashes हो जाते हैं.
3- विटामिन सी की कमी से दांत भी कमजोर होने लगते हैं.
4- जब शरीर की कोलेजन संशलेषण प्रक्रिया में खराबी आ जाए तो यह विटामिन सी की कमी से भी हो सकता है.
5- शरीर में बहुत ज्यादा कमजोरी लगती है. शरीर के टिशू का कमजोर होना भी विटामिन सी की कमी के लक्षणों में आता हैं.

 

 

 

यह भी पढ़ें- छत्तीसगढ़ में कोरोना की तीसरी लहर के संकेत, रैली, सभा और अन्य कार्यक्रम स्थगित

0 Comments
scroll to top