Close

उत्तरप्रदेश में भी भाग्य आजमाएगी शिवसेना

शिवसेना अब महाराष्ट्र की राजनीति से बाहर निकल कर अपना भाग्य आजमाने जा रही है। शिवसेना सांसद और पार्टी के प्रवक्ता संजय राउत ने बुधवार को कहा कि पार्टी उत्तर प्रदेश की 50 से 100 सीटों पर अपने कैंडीडेट खड़ा करेगी। राउत ने यह भी कहा कि गुरुवार को वे पश्चिमी उत्तर प्रदेश का दौरा भी करेंगे। खास यह है कि महाराष्ट्र में साथ मिलकर सरकार बनाने वाली राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी भी उत्तर प्रदेश में शिवसेना से अलग होकर उम्मीदवार उतारने जा रही है। इसका ऐलान मंगलवार को एनसीपी चीफ शरद पवार ने किया था।

संजय राउत ने महाराष्ट्र में बीजेपी के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र से नोटों के बैग भरकर गोवा भेजे जा रहे हैं। हमारी लड़ाई इन्ही नोटों के खिलाफ है। राउत ने यह भी कहा कि फडणवीस के गोवा जाते ही वहां की बीजेपी इकाई में फूट पड़ गई है। दूसरी तरफ गोवा में अपनी राजनीतिक जमीन बनाने में जुटी शिवसेना पर बीजेपी भी लगातार हमले कर रही है। फडणवीस ने शिवसेना पर तंज कसते हुए कहा था कि शिवसेना की लड़ाई असल में उन नोटों से है जो उनके उम्मीदवारों की जमानत जब्त होने के बाद जाने वाले हैं।

समाजवादी पार्टी संग गठबंधन करेगी एनसीपी

इससे पहले शरद पवार ने मंगलवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा था कि कुछ महीनों पहले उनके नेताओं ने उत्तर प्रदेश का दौरा कर पूर्व मुख्यमंत्री से मुलाकात की थीम जिसके बाद यह तय हुआ था कि एनसीपी भी उत्तर प्रदेश का चुनाव लड़ेगी। पवार ने यह भी कहा था कि एनसीपी उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और अन्य छोटे दलों के साथ गठबंधन कर कर कर चुनाव लड़ेगी।

यूपी में बदलाव होगा, जनता बीजेपी से नहीं है खुश

शरद पवार ने पत्रकारों से बात करते हुए यह भी कहा था कि उत्तर प्रदेश की जनता बीजेपी से खुश नहीं है। जिस तरह से मंत्रियों और विधायकों ने बीजेपी से पलायन करना शुरू किया है। उससे यह स्पष्ट होता है कि उत्तर प्रदेश में बदलाव जरूर होगा। पवार ने यह भी कहा कि आने वाले दिनों में बीजेपी के 13 विधायक समाजवादी पार्टी में शामिल हो सकते हैं।

 

यह भी पढ़ें- राजस्थान में सर्दी का सीतम

0 Comments
scroll to top