Close

कोरोना के पिछले 24 घंटे के दौरान 2 लाख 58 हजार नए केस और 385 की मौत, ओमिक्रोन के मामले बढ़कर हुए 8209

corona

कोरोना की बेकाबू रफ्तार लगातार जारी है. देश में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना संक्रमण के 2 लाख 58 हजार 89 नए मामले आए और 385 लोगों ने इस महामारी से अपनी जान गंवाई. हालांकि, इस दौरान 1 लाख 51 हजार 740 कोरोना के मरीज इससे ठीक हुए हैं. कोरोना के नए मामले आने के बाद देश में कुल सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर अब 16 लाख 56 हजार 341 हो गई है. अब तक इस महामारी से 4 लाख 86 हजार 451 लोगों की जान जा चुकी है. जबकि कुल ओमिक्रोन के मामले बढ़कर 8 हजार 209 हो गए हैं. इधर, देश में तेजी के साथ वैक्सीनेशन अभियान चलाया जा रहा है. अब तक कुल 157 करोड़ से ज्यादा वैक्सीनेशन किया जा चुका है.

महाराष्ट्र में कोविड-19 के 41,327 नए मामले

महाराष्ट्र में रविवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 41,327 नए मामले सामने आए तथा बीमारी के 29 और मरीजों ने दम तोड़ दिया. राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी. स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, शनिवार को राज्य में संक्रमण के 42,462 मामले दर्ज किए गए थे. विभाग के बुलेटिन के मुताबिक, पिछले 24 घंटे के दौरान महाराष्ट्र में 40,386 मरीज संक्रमणमुक्त हुए, जिसके साथ ही अब तक राज्य में 68,00,900 लोग ठीक हो चुके हैं. उपचाराधीन रोगियों की संख्या 2,65,346 है. राज्य में संक्रमण के मामलों की कुल संख्या 72,11,810 तथा मृतकों की संख्या 1,41,808 हो गई है. दिनभर में ओमीक्रोन स्वरूप के आठ नए मामले सामने आने के बाद ऐसे मामलों की संख्या बढ़कर 932 हो गई है. राज्य में कोविड-19 संबंधी मृत्यु दर 1.96 प्रतिशत जबकि संक्रमण से उबरने की दर 94.3 प्रतिशत है.

दिल्ली में कोरोना के 18,286 नए केस

दिल्ली में रविवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 18,286 मामले सामने आए और 28 रोगियों की मौत हुई. इसके अलावा संक्रमण दर गिरावट के साथ 27.87 प्रतिशत रही, जो एक दिन पहले 30.64 प्रतिशत थी. दिल्ली में शनिवार को संक्रमण के 20,718 मामले सामने आए थे और 30 रोगियों की मौत हुई थी. शनिवार को दिल्ली में केवल 65,621 नमूनों की कोविड-19 जांच की गई. शुक्रवार को 67,624 जबकि गुरुवार को 79,578 जांच की गई थीं. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 की कथित ‘कम’ जांच की चिंताओं को दूर करने की कोशिश के तहत दावा किया कि यहां पर आईसीएमआर की सिफारिश से तीन गुना अधिक नमूनों की जांच की जा रही है.

सत्येन्द्र जैन ने कहा- टेस्टिंग में ICMR के निर्देशों का पालन

केंद्र सरकार के नए दिशा निर्देश के मुताबिक बिना लक्षण वाले लोगों को जांच कराने की जरूरत नहीं है. साथ ही प्रयोगशाला की जांच में कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए व्यक्तियों के संपर्क में आए लोगों को भी तब तक जांच कराने की जरूरत नहीं है जबतक उन्हें कोई सहरूगण्ता नहीं है या उनकी उम्र 60 साल से अधिक नहीं है. सत्येन्द्र जैन ने कहा कि जांच के बारे में ये नए दिशानिर्देश सोच-समझकर जारी किये गए हैं. उन्होंने कहा कि जिन लोगों की जांच की जानी चाहिये, उनकी जांच की जा रही है. जैन ने कहा, ‘दिल्ली सरकार की पाबंदियों ने कोविड -19 के प्रसार को प्रभावित किया है. हम पाबंदियों की समीक्षा करने से पहले तीन से चार दिनों तक स्थिति की निगरानी करेंगे.’

महामारी फैलने के बाद से दिल्ली में एक दिन में संक्रमण के सबसे अधिक मामले गुरुवार को सामने आए थे. गुरुवार को 28,867 लोग संक्रमित मिले थे. इसके अलावा 31 रोगियों की मौत हुई थी जबकि संक्रमण दर 29.21 प्रतिशत थी. दिल्ली में गुरुवार से पहले एक दिन में संक्रमण के सबसे अधिक मामले पिछले साल 20 अप्रैल को सामने आए थे जब 28,395 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई थी.

 

 

यह भी पढ़ें- राशिफल: मेष, कर्क और मीन राशि वाले सावधान रहें, जानें सभी राशियों का राशिफल

0 Comments
scroll to top