Close

आरबीआई की कार्रवाई के बाद लगातार दूसरे दिन पेटीएम के शेयर में बड़ी गिरावट, आईपीओ प्राइस से 70% से ज्यादा नीचे फिसला शेयर

पेटीएम ( Paytm) के शेयर में गिरावट का सिलसिला जारी है. पेटीएम पेमेंट्स बैंक (Paytm Payments Bank) के खिलाफ आरबीआई के कार्रवाई के बाद लगातार दूसरे दिन पेटीएम के शेयर में गिरावट देखी जा रही है. मंगलवार की सुबह पेटीएम का शेयर 8 फीसदी से ज्यादा नीचे फिसलकर 616 रुपये तक जा गिरा. सोमवार को पेटीएम का शेयर 13 फीसदी नीचे जा लुढ़का था. पेटीएम के शेयर का मार्केट कैपिटाईजेशन 50,000 करोड़ रुपये  के नीचे 40,000 करोड़ के करीब आ गया.  फिलहाल पेटीएम 6.42 फीसदी की गिरावट के साथ 631 रुपये पर ट्रेड कर रहा है.

पेटीएम की सफाई भी काम नहीं आई

सोमवार को पेटीएम पेमेंट्स बैंक ने इन खबरों का खंडन किया है कि नए ग्राहकों को जोड़ने पर आरबीआई द्वारा लगाया प्रतिबंध चीनी कंपनियों को डाटा लीक करने के चलते लगाया गया है. कंपनी ने कहा है कि वह रिजर्व बैंक के स्थानीय स्तर पर डाटा स्टोरेज संबंधी नियमों का पूरी तरह अनुपालन करता है और उसके सारे आंकड़े देश के भीतर ही मौजूद हैं. कंपनी के सफाई के बावजूद पेटीएम के शेयर में बिकवाली जारी है.

आरबीआई के कार्रवाई के बाद फिसला पेटीएम 

दरअसल शुक्रवार को शेयर बाजार (Stock Exchanges) बंद होने के बाद आरबीआई (RBI) ने आदेश जारी करते हुए पेटीएम पेंमेंट्स बैंक ( Paytm Payments Bank) पर नए ग्राहकों  ( New Customer)को जोड़ने पर रोक लगा दी जिसके बाद पेटीएम के शेयर की पिटाई हुई है. आरबीआई ने आदेश दिया है  पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड अब नए ग्राहकों को आईटी लेखा परीक्षकों की रिपोर्ट की समीक्षा के बाद आरबीआई से अनुमति मिलने पर ही अब नए ग्राहक जोड़ सकेगा.

कहां तक गिरेगा पेटीएम

स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्टिंग के बाद से ही पेटीएम के शेयर में भारी बिकवाली जारी है. पेटीएम के शेयर की स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्टिंग हुई है तब से इसके वैल्युएशन में 71 फीसदी से ज्यादा की गिरावट आ चुकी है. मंगलवार को 616 रुपये रुपये के निचले स्तर तक शेयर जा लुढ़का है. आपको बता दें पेटीएम ने अपना आईपीओ 2150 रुपये प्रति शेयर के रेट पर जारी किया था. आईपीओ के प्राइस से निवेशकों को प्रति शेयर करीब 1500 रुपये से ज्यादा का नुकसान हो रहा है.

पेटीएम जब आईपीओ लेकर आई थी तब उसका मार्केट कैपिटाईजेशन 1,39,000 करोड़ रुपये था जो अब घटकर 41000 करोड़ रुपये पर आ चुका है. यानि 98,000 करोड़ रुपये मार्केट कैपिटाईजेशन घट चुका है. आपको बता दें पेटीएम आईपीओ इतिहास का सबसे बड़ा 18,800 करोड़ रुपये का आईपीओ लेकर आई थी.

 

 

यह भी पढ़ें- पंजाब का वो गांव जहां भगवंत मान लेंगे शपथ, भगत सिंह के कारण अमर हो गया खटकड़ कलां

0 Comments
scroll to top