Close

चौथी तिमाही में डाबर का मुनाफा 34 फीसदी बढ़ा, प्रति शेयर तीन रुपये का डिविडेंड देगी

डाबर ने वित्त वर्ष 2020-21 के चौथी तिमाही के नतीजों का ऐलान कर दिया है. इस दौरान कंपनी का कंसोलिडेटेड मुनाफा सालाना आधार पर 34 फीसदी की बढ़त के साथ 377.3 करोड़ रुपये पर पहुंच गया. जबकि वित्त वर्ष 2020 की चौथी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 281.6 करोड़ रुपये रहा था. चौथी तिमाही में कंपनी का कंसोलिडेटेड आय सालाना आधार पर 25.3 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ 2,337 करोड़ रुपये रही है जो कि वित्त वर्ष 2020 की चौथी तिमाही में 1,865.4 करोड़ रुपये रही थी.

डाबर इंडिया के सीईओ मोहित मल्होत्रा के मुताबिक बाजार में चुनौतीपूर्ण हालात के बावजूद डाबर ने लगातार दूसरी तिमाही में दहाई अंक में ग्रोथ हासिल की है.  वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान व्यापार में 25.6 फीसदी अधिक लाभ के साथ कंपनी की वित्तीय स्थिति मजबूत बनी हुई है. वही कंज्यूमर देखभाल सेगमेंट में डाबर की आय वित्त वर्ष 2020-21 की जनवरी-मार्च तिमाही में 26.36 फीसदी बढ़कर 2,009.63 करोड़ रुपये रही, जो पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में 1,590.38 करोड़ रुपये थी.

 इसके अलावा वित्त वर्ष 2020-21 की अंतिम तिमाही में कंपनी के फूड बिजनेस की आय भी 24.93 फीसदी वृद्धि के साथ 274.14 करोड़ रुपये रही. जो पिछली वित्त वर्ष की इसी अवधि में 219.44 करोड़ रुपये रही थी. इस बीच डाबर ने बताया है कि शुक्रवार को हुई बैठक में कंपनी के बोर्ड ने प्रति शेयर 3 रुपये का डिविडेंड देने का फैसला किया. शुक्रवार को कंपनी का शेयर 538.60 रुपये पर बंद हुआ था.  हालांकि विश्लेषकों का कहना है कि कंपनी के वित्तीय नतीजे अनुमान से खराब रहे हैं.

 

ये भी पढ़ें – कार्लाइल ग्रुप ने एसबीआई में अपनी 4 फीसदी हिस्सेदारी 3936 करोड़ रुपये में बेची

0 Comments
scroll to top