Close

छत्तीसगढ़ में बैंक कर्मचारियों को कोरोना योद्धा माना जाए – शिरीष

छत्तीसगढ़ बैंक एम्प्लॉय एसोसिएशन के महासचिव शिरीष नलगुंडवार ने  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से छत्तीसगढ़ में बैंक कर्मचारियों को कोरोना योद्धा के तौर पर मान्यता देने और उन्हें तथा उनके परिवार के लोगों को प्राथमिकता के आधार पर टीका ( वैक्सीन ) लगाए जाने की मांग की है।  श्री नलगुंडवार ने मंगलवार को मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर जानकारी दी  है कि भारत सरकार के वित्त मंत्रालय की संसदीय समिति ने बैंक कर्मचारियों को कोरोना योद्धा के तौर पर मान्यता दी है , उसको आधार मानकर राज्य सरकार भी फैसला करे।  उन्होंने कहा है कि कोरोनाकाल में बैंक कर्मचारियों ने जान-जोखिम में डालकर काम किया।  कई बैंक कर्मचारी और उनके परिवार के लोग इसके कारण संक्रमित भी हुए।  कुछ लोगों की जान भी गई।

श्री नलगुंडवार ने राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति के संयोजक ( उपमहाप्रबंधक, भारतीय स्टेट बैंक ) को पत्र लिखकर केरल की तरह छत्तीसगढ़ में भी सप्ताह में तीन दिन ही बैंक खोलने की मांग की है।  उन्होंने सुझाव दिया है कि  कम से कम स्टाफ में बैंक सुबह 10  से दोपहर 2 बजे तक ही खोला जाय।  श्री नलगुंडवार ने मांग की  है कि  गंभीर रूप से बीमार, गर्भवती और दिब्यांग कर्मचारियों को घर से काम करने की छूट दी जाय।  ऐसी तरह बैंकों में ग्राहकों की भीड़ को व्यवस्थित करने के लिए पुलिस की सहायता ली जाय।

 

ये भी पढ़ें – कोरोना से वाहन उद्योग को लगा करारा झटका, अब और अधिक दिन प्रोडक्शन बंदी का ऐलान

0 Comments
scroll to top