Close

जे.एस.पी.एल. में कोविड केयर सेंटर शुरू

रायपुर। रायगढ़ के जेएसपीएल परिसर में स्थित न्यू इंजीनियरिंग हॉस्टल के टॉवर क्रमांक-7 को कोविड केयर सेंटर के रूप में विकसित किया गया है। 40 आक्सीजन और 40 सामान्य बिस्तरों की क्षमता वाले इस कोविड केयर सेंटर के शुरू होने से मरीजों को काफी मदद मिलेगी। नए कोविड केयर सेंटर का उदघाटन बुधवार की शाम को रायगढ़ के कलेक्टर भीम सिंह ने किया गया। इस मौके पर रायगढ़ के पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह, नगर निगम आयुक्त आशुतोष पांडेय एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एस.एन. केसरी उपस्थित थे ।

समारोह को संबोधित करते हुए कलेक्टर श्री सिंह ने कोविड केयर सेंटर की शुरूआत करने पर जेएसपीएल और फोर्टिस-ओपी जिंदल अस्पताल को बधाई दी। उन्होंने कहा कि हमारी उम्मीद से आगे बढ़ते हुए जेएसपीएल प्रबंधन ने यह नया कोविड केयर सेंटर शुरू किया है। केंद्र के रखरखाव की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि क्षेत्र के लोगों के मन में जिंदल अस्पताल के इलाज के प्रति विश्वास है। उन्होंने कहा कि अभी कोरोना के खिलाफ हमें लंबी लड़ाई लड़नी है। तीसरी लहर के लिए भी तैयारी अभी से ही शुरू करनी पड़ेगी। उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन ने इसके लिए युद्धस्तर पर प्रयास कर जिले में आक्सीजन बेड की उपलब्धता बढ़ाई है। पिछले वर्ष रायगढ़ मेडिकल काॅलेज में सिर्फ 25 आक्सीजन बेड उपलब्ध थे। आज वहां 250 आक्सीजन बेड की सुविधा है।

100 बिस्तर और बढ़ाने की तैयारी है। केआईटी में 350 आॅक्सीजन बिस्तर की सुविधा शुरू की गई है। जिले में आज 900 आॅक्सीजन बेड और 150 आईसीयू बेड उपलब्ध हैं। जल्द ही जिले को 50 नए वेंटीलेटर भी मिल जाएंगे। उन्होंने कहा कि आक्सीजन की सुगम आपूर्ति में जेएसपीएल का बेहद महत्वपूर्ण योगदान है। जेएसपीएल की वजह से हम निश्चिंत हैं कि रायगढ़ में आक्सीजन की कमी नहीं होगी। जिले के साथ ही प्रदेश के दूसरे जिलों और देश के कई राज्यों में भी यहां से आक्सीजन भेजकर लोगों की जान बचाई जा रही है। इसके लिए उन्होंने जेएसपीएल के चेयरमैन नवीन जिंदल एवं पूरी टीम का आभार जताया। श्री सिंह ने कहा कि शासन और प्रशासन इस त्रासदी में गरीबों और जरूरतमंदों तक सभी जरूरी सुविधाएं पहुंचाने के लिए हरसंभव कोशिश कर रहे हैं।

पुलिस अधीक्षक श्री सिंह ने कहा कि जिंदल स्टील एंड पाॅवर लिमिटेड एवं फोर्टिस-ओपी जिंदल अस्पताल द्वारा इस नए कोविड केयर सेंटर को मिलाकर कोरोना मरीजों के लिए कुल 350 से अधिक बिस्तरों की सुविधा तैयार की गई है, जो काफी बड़ा योगदान है। इससे प्रशासन को भी इस आपातकालीन स्थिति में मरीजों के लिए व्यवस्था में बड़ी मदद मिल रही है। उन्होंने कहा कि इस संयंत्र से रायगढ़ और छत्तीसगढ़ के साथ पूरे देश में आक्सीजन पहुंचाकर जेएसपीएल ने बहुत बड़ा काम किया है, जिसकी हर स्तर पर प्रशंसा हो रही है। उन्होंने उम्मीद जताई कि कोविड केयर सेंटर में भी मरीजों को अच्छी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। नगर निगम आयुक्त आशुतोष पाण्डेय ने कहा कि जेएसपीएल, नगर निगम का सबसे विकसित हिस्सा है। कंपनी द्वारा नगर निगम को हमेशा ही पूरा सहयोग मिलता रहा है। शहर के विकास में किसी भी तरह के सहयोग की आवश्यकता होने पर जेएसपीएल ने हमेशा अपनी अहम भूिमका निभाई है।

निगम क्षेत्र के कई वार्डों और आसपास के गांवों में कंपनी द्वारा जरूरतमंदों को राशन का वितरण भी किया जा रहा है। उन्होंने विश्वास जताया कि इस कोविड केयर सेंटर से कोरोना के खिलाफ लड़ाई में मदद मिलेगी। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. एस.एन. केसरी ने कहा कि जेएसपीएल एवं फोर्टिस-ओपी जिंदल अस्पताल द्वारा कोरोना के इलाज के लिए बेहतर व्यवस्था की गई है। इस नए केंद्र के शुरू होने से इसमें और मदद मिलेगी। उन्होंने विश्वास जताया कि इस केंद्र में अच्छी साफ-सफाई के साथ मरीजों के खान-पान की भी बेहतर व्यवस्था होगी।

जेएसपीएल के सीओओ-छत्तीसगढ़ दिनेश कुमार सरावगी ने कहा कि इस कठिन दौर में जिस तरह रायगढ़ जिला प्रशासन इस महामारी के प्रसार को रोकने के अभियान में निरंतर जुटा हुआ है, वह बेहद सराहनीय है। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन की प्रेरणा से ही जेएसपीएल ने इस कोविड केयर सेंटर की शुरूआत की। श्री सरावगी ने फोर्टिस-ओपी जिंदल अस्पताल की टीम की सराहना करते हुए कहा कि अस्पताल की पूरी टीम लोगों को बेहतर से बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराने के लिए जुटी हुई हैं। उन्होंने दोहराया कि जेएसपीएल अपनी ओर से हरसंभव मदद उपलब्ध कराने के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है और प्रशासन के हर कदम पर कंपनी साथ खड़ी है। श्री सरावगी ने कहा कि कंपनी के चेयरमैन नवीन जिंदल के ’नेशन फस्र्ट’ के ध्येय वाक्य को ध्यान में रखकर हम दिन-रात रायगढ़ और छत्तीसगढ़ के साथ पूरे देश में जरूरत के अनुसार आक्सीजन की आपूर्ति में जुटे हुए हैं। हमारा संकल्प है कि रायगढ़ जिले में एक भी मरीज की जान आक्सीजन की कमी से नहीं जाने देंगे।

उन्होंने संयंत्र और काॅलोनी परिसर में कोविड से बचाव के लिए किए जा रहे प्रयासों के बारे में भी विस्तृत जानकारी दी। फोर्टिस-ओपी जिंदल अस्पताल के सीओओ मेजर राजेश्वर भाटी (रि.) ने बताया कि इस कोविड केयर सेंटर में कोविड प्रोटोकाॅल के अनुसार सभी व्यवस्थाएं रखी गई हैं। इसके शुरू होने के बाद फोर्टिस-ओपी जिंदल अस्पताल के पास कुल 378 बिस्तर की क्षमता हो गई है। इनमें से सिर्फ 30 बिस्तर सामान्य मरीजों के लिए छोड़े गए हैं, बाकी 348 बिस्तर कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित हैं। हाल ही में 3 पोर्टेबल वेंटीलेटर और 4 आईसीयू वेंटीलेटर की व्यवस्था की गई है। अब यहां 10 आईसीयू बेड और 116 आक्सीजन बेड उपलब्ध हैं।

 

ये भी पढ़ें – कोरोना से संक्रमित होने के बाद कब लें वैक्सीन? सरकार के पैनल ने बताया

0 Comments
scroll to top