Close

छत्तीसगढ़ में आकाशीय बिजली का कहर, 5 महिलाओं की मौके पर मौत

महासमुंद, छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले में आकाशीय बिजली गिरने से 5 महिलाओं की मौत हो गई। जबकि, 6 लोग घायल हो गए,. सभी घायलों को इलाज के लिए समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती किया गया है। घटना की सूचना मिलते ही वरिष्ठ प्रशासनिक और पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। आकाशीय आफत की यह घटना सिंघोडा थाना इलाके के घाटकछार में घटी। दूसरी ओर, प्रदेश में बारिश थम गई है। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि अभी बारिश के लिए इंतजार करना होगा। मौसम विभाग का कहना है कि सरगुजा को छोड़कर कहीं और बारिश के आसार नजर नहीं आ रहे।

अभी तक 60 लोगों की हो चुकी है मौत

जानकारी के मुताबिक, आकाशीय बिजली उस वक्त लोगों पर गिरी जब वे खेतों पर काम कर रहे थे। उस वक्त खेत पर रोपाई चल रही थी। जैसे ही आकाशीय बिजली गिरी वैसे ही जमोवती, बसंती नाग, नोहर मति, लक्ष्मी यादव और जानकी की मौत हो गई। इन महिलाओं को संभलने का मौका तक नहीं मिला। दूसरी ओर, तपस्विनी, शशि मुझी, गीतांजलि, पुन्नी, पंकजनी और पार्वती मालिक घायल हो गईं। सभी का इलाज जारी है। महासमुंद जिले में आकाशीय बिजली से अभी तक 60 लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि, 19 मवेशी भी मारे गए हैं। इलाके के थाना प्रभारी केशव कोसले ने बताया कि जैसे ही आकाशीय बिजली गिरने की सूचना मिली, वैसे ही पुलिस तुरंत मौके पर पहुंच गई। घटनास्थल ग्राम घाटकछार है। यहीं आकाशीय बिजली गिरी और पांच महिलाओं की मौत हो गई। 6 घायलों का इलाज कराया जा रहा है।

थम गई बारिश

दूसरी ओर, प्रदेश में बारिश की गतिविधियां धीमी पड़ गई हैं। इसकी वजह से रायपुर समेत विभिन्न जिलों के तापमान में बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि बारिश को लेकर फिलहाल कोई सिस्टम नहीं बन रहा है। इसलिए छत्तीसगढ़ में इसे लेकर थोड़ा इंतजार करना होगा। हालांकि, सरगुजा संभाग को लेकर राहत वाली खबर है। यहां बारिश की संभावना है। लेकिन छत्तीसगढ़ के विभिन्न हिस्सों में स्थानीय प्रभाव से ही बारिश होगी। हवा में नमी बरकरार है। उस वजह से भी बारिश हो सकती है।

 

यह भी पढ़ें:- पाटजात्रा पूजा विधान के साथ एतिहासिक बस्तर दशहरा शुरू

0 Comments
scroll to top