Close

शिवसेना सांसद संजय राउत की कोर्ट में पेशी आज, 3 मुद्दों पर 14 दिन की रिमांड मांगेगी ईडी

पात्रा चॉल जमीन घोटाले में मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े मामले में 9 घंटे तक छापेमारी के बाद शिवसेना सांसद संजय राउत को रविवार को ईडी ने हिरासत में ले लिया। राउत पर जांच में सहयोग न करने का आरोप है। ईडी की टीम ने 1000 करोड़ से ज्यादा के पात्रा चॉल जमीन घोटाला मामले में उनसे घंटों पूछताछ की। राउत घर से निकले तो भगवा दुपट्टा लहराते नजर आए। ईडी ने रातभर संजय राउत को हिरासत में रखा। सोमवार को अब उन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा। ईडी संजय राउत को मेडिकल के लिए जेजे अस्पताल लेकर पहुंची हैं। उससे पहले ईडी दफ्त से लेकर मुंबई में जेजे अस्पताल तक भारी पुलिस फोर्स तैनात किया गया है।

संजय राउत के घर पहुंचे उद्धव ठाकरे

महाराष्‍ट्र के पूर्व मुख्‍यमंत्री और श‍िवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे सोमवार दोपहर पार्टी सांसद संजय राउत के घर पहुंचे। उद्धव ठाकरे ने संजय राउत के पर‍िवार से मुलाकात की। दरअसल पात्रा चॉल जमीन मामले में ईडी ने संजय राउत को अरेस्‍ट कर ल‍िया है। ईडी संजय राउत को कोर्ट में पेश करने वाली है, जहां वह राउत की र‍िमांड मांग सकती है।

संजय राउत को जांच के लिए अस्पताल ले जाया गया

ईडी के अधिकारी सोमवार को शिवसेना के सांसद संजय राउत को जांच के लिए अस्पताल ले गए। इसके बाद उन्हें यहां एक विशेष अदालत में पेश किया जाएगा। जहां ईडी कोर्ट से कम से कम 14 द‍िन की कस्‍टडी की मांग कर सकती है। दरअसल मनी लॉड्र‍िंग के मामले में गिरफ्तारी के बाद दक्षिण मुंबई में ईडी के कार्यालय में रात गुजारने वाले राउत (60) को दोपहर साढ़े 12 बजे के बाद अस्पताल ले जाया गया। वह एजेंसी के कार्यालय के बाहर जमा मीडिया कर्मियों का अभिवादन करते हुए देखे गए। अधिकारियों ने बताया कि ईडी ने रविवार को राउत के घर पर नौ घंटे तक छापेमारी करने के बाद मुंबई की पात्रा चॉल में कथित अनियमितताओं से जुड़े एक मामले में उन्हें गिरफ्तार कर लिया। अधिकारियों ने कहा कि छापेमारी के दौरान मिली 11.5 लाख रुपये की नकदी को जब्त कर लिया गया है। राउत से दक्षिण मुंबई के बलार्ड एस्टेट में स्थित ईडी के स्थानीय कार्यालय में छह घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की गई और आधी रात के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

रिमांड के ल‍िए ED ने तैयार किए तीन मुद्दे

सूत्रों की मानें तो ईडी ने तीन मुद्दे तैयार किए हैं, जिन पर ईडी संजय राउत की रिमांड मांगेगी। ईडी का दावा है कि रुपयों के लेनलेन को लेकर संजय राउत को फायदा हुआ है। उनकी पत्नी के अकाउंट में रुपयों के ट्रांसफर होने की बात कही जा रही है। प्रवीण राउत से संजय राउत तक रकम पहुंचने का दावा भी ईडी ने किया है। कहा जा रहा है कि ईडी के पास इसके दस्तावेज मौजूद हैं। वहीं तीसरा मुद्दा यह है कि संजय राउत जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं। इधर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने संजय राउत पर तंज कसा है। उन्होंने कहा कि एक भोंपू तो अंदर गया। रोज सुबह आठ बजे बजने वाला भोंपू बंद हो गया। एकनाथ शिंदे ने एक दिन पहले भी तंज कसते हुए कहा था कि संजय राउत डर क्यों रहे हैं?

1034 करोड़ का घोटाला

2007 में म्हाडा ने गोरेगांव के सिद्धार्थ नगर स्थित पात्रा चॉल के री-डेवलपमेंट का काम गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन कंपनी को दिया था। यहां म्हाडा की 47 एकड़ जमीन में कुल 672 घर बने हैं। कंपनी को 3500 से ज्यादा फ्लैट बनाकर देने थे। म्हाडा के लिए फ्लैट्स बनाने के बाद बची हुई जमीन को प्राइवेट डेवलपर्स को बेचना था, लेकिन 14 साल बाद भी कंपनी ने लोगों को फ्लैट बनाकर नहीं दिए। पीड़ित ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। आरोप लगा है कि यह करीब 1034 करोड़ का घोटाला है। इस मामले में प्रवीण राउत के 9 करोड़ रुपये और संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत की 2 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त हो चुकी है।

ईडी सूत्रों के मुताबिक, गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन पर आरोप है कि इसके संचालकों ने 47 एकड़ जमीन पर म्हाडा की फ्लैट बनाने के बजाय उसे 8 अलग-अलग बिल्डरों को बेच कर 1034 करोड़ रुपये कमाए। म्हाडा ने मार्च 2018 में गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई। इसकी जांच ईओडब्ल्यू कर रही है। ईओडब्ल्यू ने फरवरी 2020 में प्रवीण राउत को गिरफ्तार कर लिया। हालांकि, प्रवीण राउत को कोर्ट ने जमानत दे दी लेकिन पीएमसी बैंक घोटाला मामले में ईडी ने प्रवीण को गिरफ्तार कर लिया। प्रवीण संजय राउत के करीबी माने जाते हैं। प्रवीण से हुई पूछताछ में संजय राउत के करीबी सुजीत पाटकर का नाम आया। सुजीत संजय राउत का करीबी माना जाता है।

0 Comments
scroll to top