Close

शिवाजी पार्क में दशहरा रैली पर अड़े रहे उद्धव ठाकरे, बॉम्बे हाईकोर्ट से लगाई गुहार

दशहरा रैली करने की इजाजत के लिए शिवसेना का उद्धव ठाकरे कैंप बॉम्बे हाई कोर्ट पहुंच गया है। वकील आस्पी चिनॉय उद्धव ठाकरे गुट का पक्ष अदालत में रखेंगे। उद्धव गुट ने गणेश उत्सव के पहले  BMC को पार्टी की दशहरा रैली के लिए अर्जी थी। पार्टी ने मांग की थी कि उन्हें पहले की तरह ही शिवाजी पार्क में रैली करने की अनुमति दी जाए हालांकि BMC ने अभी तक फैसला नहीं लिया है।

उधर उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना ने मंगलवार को कहा था कि BMC की मंजूरी मिले या नहीं, वह यहां शिवाजी पार्क मैदान में पार्टी की वार्षिक दशहरा रैली करेगी। मुंबई के पूर्व महापौर मिलिंद वैद्य के नेतृत्व में शिवसेना नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल ने बीएमसी के अधिकारियों से मुलाकात कर रैली आयोजित करने की अनुमति के लिए उनके आवेदन की स्थिति के बारे में पूछताछ की।

शिंदे सरकार ने अब तक पूर्व सीएम ठाकरे को शिवाजी मैदान में रैली की इजाजत नहीं दी है। इसलिए ठाकरे हाईकोर्ट की शरण में पहुंच गए हैं। कोर्ट उनकी याचिका पर 27 सितंबर को सुनवाई करेगी।

मुंबई में हर साल होने वाली शिवसेना की दशहरा रैली को लेकर इस बार उद्वव ठाकरे व पार्टी के बागी नेता व महाराष्ट्र के सीएम एकनाथ शिंदे के बीच ठन गई है। ठाकरे इस साल भी मुंबई के शिवाजी पार्क में दशहरा रैली आयोजित करने की इजाजत को लेकर अड़े हुए हैं। शिवाजी पार्क में रैली की इजाजत को लेकर आज वे बॉम्बे हाईकोर्ट पहुंच गए।

ठाकरे गुट को शिवाजी पार्क में रैली की इजाजत को लेकर मुंबई महानगर पालिका (BMC) ने अब तक कोई फैसला नहीं किया है। शिवसेना की सालाना दशहरा रैली खास होती है। इसे पहले पार्टी सुप्रीमो बाला साहब ठाकरे संबोधित करते थे तो उनके निधन के बाद उद्धव ठाकरे संबोधित करते हैं। शिवसेना में पहली बार कोई ताकतवर गुट अलग हुआ है, इसलिए शिंदे खुद अपनी दशहरा रैली आयोजित कर रहे हैं। शिंदे सरकार ने अब तक पूर्व सीएम ठाकरे को शिवाजी मैदान में रैली की इजाजत नहीं दी है। इसलिए ठाकरे हाईकोर्ट की शरण में पहुंच गए हैं। कोर्ट उनकी याचिका पर 27 सितंबर को सुनवाई करेगी।

शिवसेना की ओर से हाईकोर्ट में याचिका अनिल देसाई ने दायर की है। उन्होंने याचिका में कहा है कि हमने बीएमसी से रैली की इजाजत के लिए अगस्त में आवेदन दिया था, लेकिन अब तक कोई निर्णय नहीं किया गया है। इसलिए हाईकोर्ट बीएमसी को हमें रैली की इजाजत देने का निर्देश दे।

शिवाजी पार्क में ही करेंगे दशहरा रैली, अनुमति मिले या न मिले

इससे पूर्व मंगलवार को ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना ने कहा था कि वह पार्टी की वार्षिक दशहरा रैली मुंबई के शिवाजी पार्क मैदान में ही करेगी चाहे बीएमसी अपनी मंजूरी दे या नहीं। मुंबई के पूर्व महापौर मिलिंद वैद्य के नेतृत्व में शिवसेना नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल ने नगर निकाय के अधिकारियों से मुलाकात कर रैली आयोजित करने की अनुमति के लिए उनके आवेदन की स्थिति के बारे में पूछताछ की। शिवसेना ने कहा कि अनुमति मिले या न मिले, बाला साहेब ठाकरे के शिवसेना कार्यकर्ता शिवाजी पार्क में रैली के लिए जुटेंगे। प्रशासन को या तो हमें अनुमति देनी होगी या मना कर देना चाहिए। हम शिवाजी पार्क में रैली करने के लिए अपने फैसले पर दृढ़ हैं।

हमें जवाब नहीं मिला तो शिवसेना दशहरा रैली के लिए शिवाजी पार्क में इकट्ठा होंगे

उन्होंने कहा कि अगर हमें जवाब नहीं मिला तो बाला साहेब के शिवसेना कार्यकर्ता दशहरा रैली के लिए शिवाजी पार्क में इकट्ठा होंगे। ठाकरे के नेतृत्व वाले धड़े और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाले प्रतिद्वंद्वी शिवसेना समूह दोनों ने मध्य मुंबई के शिवाजी पार्क में दशहरा रैली आयोजित करने की अनुमति मांगी है। शिवसेना अपनी स्थापना के समय से ही आयोजन स्थल पर दशहरा रैली कर रही है। बीएमसी ने अभी तक इस मुद्दे पर कोई फैसला नहीं लिया है। दोनों गुटों ने एक विकल्प के रूप में बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स (बीकेसी) के एमएमआरडीए मैदान में रैली करने की अनुमति के लिए भी आवेदन किया है। पिछले हफ्ते शिंदे धड़े को बीकेसी में रैली करने की मंजूरी मिली थी।

सहयोगी पवार ने कहा कि राज्य को इन दोनों पक्षों के विचार सुनने दें

इस बीच, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता अजीत पवार ने कहा कि उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली सेना को शिवाजी पार्क में रैली करने की अनुमति मिलनी चाहिए और अगर अनुमति नहीं मिलती है तो उसे कानून का सहारा लेना चाहिए। यदि शिंदे गुट के लिए बीकेसी मैदान उपलब्ध कराया गया है, तो उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाले समूह को शिवाजी पार्क में रैली करने की अनुमति दी जानी चाहिए। महा विकास अघाड़ी गठबंधन में ठाकरे के नेतृत्व वाली सेना के सहयोगी पवार ने कहा कि राज्य को इन दोनों पक्षों के विचार सुनने दें।
0 Comments
scroll to top