Close

मल्टीबैगर स्टॉक: टॉप मिडकैप शेयर्स के लिए यह है ब्रोकरेज फर्म मोतीलाल ओसवाल की पंसद, जानें इनके बारे में

मल्टीबैगर स्टॉक: निफ्टी सितंबर में लगातार पांचवें महीने मजबूती के साथ बंद हुआ. सेक्टरों में, मीडिया, रियल एस्टेट, तेल और गैस, दूरसंचार और यूटिलिटी ने महीने के दौरान शीर्ष प्रदर्शन किया, जबकि मेटल एकमात्र क्षेत्र रहा जो पिछे रह गया. स्टॉक जैसे कोल इंडिया, एनटीपीसी, ओएनजीसी, टाटा मोटर्स शीर्ष पर रहे. जबकि दूसरी ओर, टाटा स्टील, बीपीसीएल, टाटा कंज्यूमर, अल्ट्राटेक पीछे रहे.

इसके अलावा मिडकैप और स्मॉलकैप ने पिछले 12 महीनों में लार्जकैप को पछाड़ दिया है. निफ्टी के लिए 57% की वृद्धि की तुलना में मिडकैप में 79% की वृद्धि हुई है. अपने टॉप पिक रूप में सिफारिश करते हुए, मोतीलाल ओसवाल ने मिडकैप में मैक्स फाइनेंशियल, स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया (सेल), दीपक नाइट्राइट, एलएंडटी टेक्नोलॉजी, एपीएल अपोलो ट्यूब्स, चोल फाइनेंस, जेके सीमेंट्स, इंडियन होटल्स, ओरिएंट इलेक्ट्रिक, आदित्य बिड़ला फैशन, रिटेल (ABFRL) को शामिल किया.

ब्रोकरेज ने एक नोट में कहा, “बाजार रैली कर रहे हैं और कैसे! बाजार के एक हिस्से ने उड़ान भरी है और अब भविष्य में आय में अच्छी छूट दे रहा है. लिक्विडिटी, घटते COVID-19 मामलों, उत्साहित कॉर्पोरेट टिप्पणियां और पूंजी की कम लागत ने कई हाई क्वालिटी नामों के लिए वैल्यूएशन गुणकों को स्ट्रैटोस्फेरिक स्तर तक बढ़ा दिया है.”

मोतीलाल ओसवाल के विचार में, एनर्जी और कमोडिटी की कीमतों में वृद्धि, वैश्विक आपूर्ति श्रृंखलाओं में व्यवधान और यूएस फेड टेपर के आसपास की अटकलें और CY22 में ब्याज दर के माहौल के कुछ समय के लिए सामान्य होने से बाजार में उतार-चढ़ाव हो सकता है. सितंबर में, प्रमुख वैश्विक बाजार जैसे जापान (+5%), भारत (+3%), इंडोनेशिया (+2%), रूस (+1%), और चीन (+1%) स्थानीय मुद्रा के संदर्भ में उच्च स्तर पर बंद हुए. हालांकि, ब्राजील (-7%), यूएस (-5%), MSCI EM (-4%), कोरिया, ताइवान और यूके में गिरावट दर्ज की गई. पिछले 12 महीनों में, MSCI India (+53%) ने MSCI EM (+16%) से बेहतर प्रदर्शन किया है. पिछले 10 वर्षों में भी, MSCI India ने MSCI EM को 175% से पछाड़ दिया है.

लार्जकैप के तहत, ब्रोकरेज फर्म के टॉप पिक्स में आईसीआईसीआई बैंक, एसबीआई, इंफोसिस, एचसीएल टेक्नोलॉजीज, अल्ट्राटेक, एचयूवीआर, टाइटन, डिविज लैब्स, हिंडाल्को और एसबीआई लाइफ शामिल हैं.

 

 

यह भी पढ़ें- डीमैट खाता खुलवाने से पहले इन बातों की कर लें जांच, नहीं तो होगी परेशानी

0 Comments
scroll to top