Close

फीफा वर्ल्ड कप : फ्रांस ने 4-1 से यह मैच अपने नाम कर लिया

फीफा वर्ल्ड कप 2022 में फ्रांस ने अपने अभियान का शानदार आगाज किया है। कल देर रात अल जनाब स्टेडियम में खेले गए ग्रुप-डी के मुकाबले में 2018 की चैम्पियन टीम फ्रांस ने ऑस्ट्रेलिया को 4-1 से पराजित कर दिया। फ्रांस टीम की जीत के हीरो अनुभवी स्ट्राइकर ओलिवर गिरोड रहे जिन्होंने मैच में कुल दो गोल अपने नाम किए।

ऑस्ट्रेलिया की शुरुआत काफी शानदार रही

मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया की शुरुआत काफी शानदार रही और उसने खेल के नौवें मिनट में ही मिनट में गोल कर दिया। कंगारू टीम के लिए यह गोल क्रेग गुडविन ने मैथ्यू लेकी के एक खूबसूरत क्रॉस पर किया। तीन मिनट बाद फ्रांस के लिए एक दुखद घटना घटी जब लेफ्ट-बैक लुकास हर्नांडेज का घटना मुड़ गया जिसके चलते उन्हें स्ट्रेचर पर लादकर पिच से बाहर ले जाया गया। फ्रांस आखिकार 27वें मिनट में गोल करने में कामयाब रहा।

रेबियोट का अहम रोल

यह गोल एड्रियन रेबियोट ने सबस्टीट्यूट खिलाड़ी थियो हर्नांडेज के बेहतरीन क्रांस पर हेडर के जरिए किया। खास बात यह है कि 2018 विश्व कप विजेता टीम का रेबियोट हिस्सा नहीं थे, लेकिन चार साल बाद उन्होंने अपनी टीम की ओर से पहला गोल दाग दिया। फिर खेल के 32वें मिनट में ही को दूसरा गोल मिल गया। अबकी बार ये गोल ओलिवर गिरोड ने किया। इस गोल में भी रेबियोट का अहम रोल रहा जिन्होंने गिरोड को एक बेहतरीन पास दिया था। पहले हाफ मे इसके बाद कोई गोल नहीं हुआ यानी कि हाफटाइम तक स्कोर 2-1 से फ्रांस के पक्ष में था।

71वें मिनट में ओलिवर गिरोद ने फ्रांस की बढ़त 4-1 से कर दी

अब कंगारू फैन्स को उम्मीद थी कि मैच के दूसरे हाफ में ऑस्ट्रेलिया फिर से मोमेंटम बना पाएगा लेकिन एमबाप्पे, ग्रीजमैन, डेम्बेले और गिरोड के सामने उसकी एक नहीं चली। खेल के 68वें मिनट में स्टार खिलाड़ी किलियन एमबाप्पे ने डेम्बेले के क्रॉस पर हेडर के जरिए गोल में तब्दील कर दिया। ऐसे में फ्रांस की लीड बढ़कर 3-1 की हो गई थी।

तीन मिनट बाद ही यानी कि 71वें मिनट में ओलिवर गिरोद ने फ्रांस की बढ़त 4-1 से कर दी। गिरोद ने एमबाप्पे के क्रॉस पर हेडर के सहारे यह गोल किया था। इस गोल के साथ ही गिरोड ने फ्रांस के लिए सबसे ज्याद गोल दागने के मामले में थिएरी हेनरी की बराबरी कर ली। हेनरी और गिरोड के नाम पर अब 51-51 गोल हैं।

 

यही नहीं 36 वर्षीय ओलिवर गिरोड फीफा वर्ल्ड कप के इतिहास में किसी एक मैच में दो गोल दागने वाले दूसरे सबसे उम्रदराज खिलाड़ी बन गए। यह रिकॉर्ड कैमरून के रोजर मिल्ला के नाम पर है जिन्होंने 1990 के वर्ल्ड कप में कोलंबिया के खिलाफ दो गोल दागे थे। उधर मैच में दोनों टीमों की ओर से कोई और गोल नहीं हो पाया। इस तरह फ्रांस ने 4-1 से यह मैच अपने नाम कर लिया।

 

 

 

 

 

यह भी पढ़े :-प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने की कर्मयोगी प्रारंभ माड्यूल की शुरुआत, 71,056 नियुक्ति पत्र बांटे

0 Comments
scroll to top