Close

शिवसेना नेता संजय राउत ने क्यों कहा- मायावती और ओवैसी को मिले ‘भारत रत्न’, जानिए

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने एक बार फिर सत्ता हासिल करके इतिहास रच दिया है. बीजेपी गठबंधन ने इस चुनाव में 273 सीटों पर कब्जा किया है. जबकि समाजवादी पार्टी गठबंधन 125 सीटों पर ही सिमट गया. इस चुनाव में मायावती की बहुजन समाज पार्टी को सिर्फ एक सीट मिली. जबकि कांग्रेस के खाते में दो सीटें गईं. बीजेपी की इस जीत पर पक्ष विपक्ष के बड़े नेताओं ने पार्टी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बधाई दी है. शिवसेना के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद संजय राउत ने भी बीजेपी को बधाई दी है. लेकिन इस दौरान उन्होंने बसपा सुप्रीमो मायावती और ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के चीफ असदुद्दीन ओवैसी को ‘भारत रत्न’ देने की मांग की. जानिए पूरा मामला.

संजय राउत ने क्या कहा?

दरअसल संजय राउत से यूपी, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में बीजेपी की जीत को लेकर उनकी प्रतिक्रिया ली गई. इस दौरान उन्होंने मायावती और ओवैसी पर तंज कसा. संजय राउत ने कहा है कि बीजेपी की जीत में मायावती और ओवैसी का बड़ा योगदान है. इस योगदान के लिए इन दोनों नेताओं को ‘पद्म विभूषण’ और ‘भारत रत्न’ देना होगा. संजय राउत ने कहा कि चिंता का विषय ये हैं कि पंजाब में बीजेपी जो एक राष्ट्रीय पार्टी है ,उसे पंजाब की जनता ने पूरी तरह से नकारा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने वहां जमकर प्रचार किया फिर भी बीजेपी क्यों हार गई?

हारजीत होती रहती हैशिवसेना के प्रदर्शन पर राउत

संजय राउत ने कहा, ”बीजेपी को बड़ी जीत मिली है, यूपी उनका राज्य था फिर भी अखिलेश यादव की सीटें बढ़ गई हैं. हम लोग खुश हैं, हार-जीत होती रहती है. आपकी खुशी में हम भी शामिल हैं. उन्होंने कहा, ”आप हमें बार-बार बोलते हो कि शिवसेना को यूपी में कितनी सीटें मिलीं? यूपी में कांग्रेस और शिवसेना की जो हार हुई है उससे बुरा हाल आपका पंजाब में हुआ है. इस बारे में आप थोड़ा देश को मार्गदर्शन दीजिए.”

क्या रहे यूपी के नतीजे?

उत्तर प्रदेश (कुल सीटें- 403)

Party Won
अपना दल (एस) 12
बसपा 1
बीजेपी 255
कांग्रेस 2
जनसत्ता दल लोकतांत्रिक 2
निषाद 6
आरएलडी 8
समाजवादी पार्टी 111
एसबीएसपी 6

 

 

यह भी पढ़ें- अब किराने की दुकान में भी मिलेगा ये सिलेंडर, एड्रेस प्रूफ भी नहीं चाहिए-आपके काम की खबर

0 Comments
scroll to top