Close

देश में फिर सामने आए करीब 4 हजार नए कोरोना केस, 26 लोगों की हुई मौत, एक्टिव मामले 22 हजार के पार

देशभर में शुक्रवार को 84 दिन बाद 24 घंटे के अंदर कोरोना (Coronavirus) संक्रमण के 4 हजार से ज्यादा मामले सामने आए. जिसे देखते हुए सरकार सतर्क हो गई है और कोरोना संक्रमण की रोकथाम के साथ ही इसकी निशानदेही और सतर्कता के लिए निर्देश जारी किए गए हैं.

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने केरल, कर्नाटक, महाराष्ट्र, तेलंगाना और तमिलनाडु समेत पांच राज्यों के अधिकारियों को कोरोना संक्रमण को लेकर एक पत्र लिख निर्देश दिए हैं. जिसमें कोरोना के लगातार बढ़ रहे मामलों और संक्रमित हो रहे लोगों के ग्रुप की बारीकी से निगरानी करने और पर्याप्त संख्या में कोरोना संक्रमण की जांच करने के निर्देश दिए गए हैं.

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने राज्यों को लिखे पत्र

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण के पत्र में कहा गया है कि ‘ऐसे कई राज्य देखने को मिल रहे हैं. जहां बीते कुछ समय से कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से देखने को मिल रहे हैं. ऐसे कोरोना संक्रमण स्थानीय प्रसार की संभावना की ओर इशारा कर रहे हैं. ऐसे में कोरोना महामारी से लड़ते हुए तेजी से सार्वजनिक स्वास्थ्य के लिए काम किए जाएं.’

पांच गुना तेजी से कोरोना पर पाएं नियंत्रण

राजेश भूषण ने राज्यों को सलाह दी है कि वह पांच गुना तेजी से अपनी रणनीति को प्रसार करें. जिसमें कोरोना संक्रमितों की टेस्ट-ट्रैक-ट्रीट और टीकाकरण को शामिल किया गया है. उनका कहना है कि नए कोरोना संक्रमित मामलों की निगरानी दिशानिर्देश के अनुसार करनी चाहिए और साथ ही राज्यों को अपनी कोरोना जांच की संख्या में भी इजाफा करना चाहिए.

बीते सप्ताह से बढ़ रहे मामले

राजेश भूषण (Rajesh Bhushan) का कहना है कि भारत में बीते 3 महीनों से कोरोना (Coronavirus) संक्रमण की संख्या में लगातार गिरावट देखी गई है. वहीं बीते एक हफ्ते में कोरोना (Coronavirus) के मामलों में मामूली तेजी आई है. उनका कहना है कि 27 मई को खत्म हुए हफ्ते में 15,708 मामले सामने आए थे, जो 3 जून को 21,055 के पार पहुंच गए हैं.

 

 

 

यह भी पढ़ें- राशिफल: वृषभ, सिंह, वृश्चिक, धनु, मीन राशि वाले न करें ये काम, जानें आज का राशिफल

0 Comments
scroll to top