Close

राष्ट्रपत्नी वाले बयान पर अधीर रंजन चौधरी को नोटिस

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी के ‘राष्ट्रपत्नी’ बयान पर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। हालांकि, चौधरी सुबह से इस मामले को लेकर कई बार सफाई पेश कर चुके हैं। उन्होंने मीडिया के दिए बयान में भी कहा है कि उनसे चूक जरूर हुई लेकिन उनकी मंशा ऐसी नहीं थी। हालांकि, आज सदन में भाजपा सांसदों के हमलावर रुख को देखते हुए ये मामला ठंडा पड़ता नहीं दिख रहा है। वहीं, अब इस मामले में राष्ट्रीय महिला आयोग ने कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी को नोटिस भेजा है। आयोग ने चौधरी को इस मामले में निजी तौर पर उपस्थित होने और लिखित में इस पूरे बयान पर सफाई मांगी है। आयोग ने नोटिस में सुनवाई के लिए 3 अगस्त को सुबह 11:30 बजे का वक्त तय किया है।

सोनिया गांधी से हस्तक्षेप की मांग

नोटिस भेजने के अलावा महिला आयोग ने इस मामले में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी हस्तक्षेप की मांग की है। साथ ही सोनिया से इस आपत्तिजनक टिप्पणी के लिए अधीर रंजन चौधरी के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की भी गुजारिश की है।

राष्ट्रपति से मिलकर माफी मांगने के लिए समय मांगा

अब जानकारी के लिए बता दें कि कांग्रेस के लोकसभा नेता अधीर रंजन चौधरी ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को ‘राष्ट्रपत्नी’ कह दिया था। बाद में अधीर ने इसे अपनी जुबान फिसलना बताया था। उन्होंने कहा था कि मैंने राष्ट्रपति से मिलकर माफी मांगने के लिए समय मांगा था। लेकिन बीजेपी सोनिया गांधी पर निशाना क्यों साध रही है। मैं बीजेपी को चुनौती देता हूं कि आगे आकर मुझे लड़े। हमारी नेता, जो महिला हैं, उन्हें टारगेट न करें। मैं फिर कह रहा हूं कि गलती हुई है।  मैं बंगाली हूं। मेरी हिंदी अच्छी नहीं है। मुझे संसद में बोलकर स्पष्टीकरण देने दीजिए। इससे पहले अधीर रंजन चौधरी ने कहा, हिंदुस्तान के राष्ट्रपति हमारे लिए राष्ट्रपति ही हैं। एक बात मुंह से निकल गई। जुबान फिसल गई। लेकिन बीजेपी राई का पहाड़ बना रही है।

 

यह भी पढ़ें:- अंतरराष्ट्रीय बाघ दिवस 2022: भारत है बाघों का सरताज

0 Comments
scroll to top