Close

सिडनी टेस्ट के दिलचस्प वाकये के बाद सचिन तेंदुलकर ने दिया ‘नए नियम’ का सुझाव, जानिए क्या है खास

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने एशेज सीरीज के सिडनी टेस्ट में हुए एक वाकये के बाद क्रिकेट में नए नियम का सुझाव दिया है. यह नियम स्टम्प पर गेंद लगने के बाद गिल्लियों के न गिरने की स्थिति में बल्लेबाज को आउट देने या न देने के फैसले से जुड़ा हुआ है.

दरअसल, सिडनी में खेले जा रहे एशेज सीरीज के चौथे टेस्ट के तीसरे दिन इंग्लैंड के बल्लेबाज बेन स्टोक्स बल्लेबाजी कर रहे थे. उनके सामने तेज गेंदबाज कैमरन ग्रीन थे. ग्रीन की एक गेंद को स्टोक्स ने ऑफ साइड में जाते देख छोड़ दिया लेकिन यह गेंद स्टम्प पर जा लगी. हालांकि, भाग्य ने स्टोक्स का साथ दिया और गेंद लगने के बावजूद स्टम्प के ऊपर रखी गिल्लियां नहीं गिरीं. स्टोक्स को नॉट आउट करार दिया गया और बाद में उन्होंने 66 रनों की अहम पारी खेलकर टीम को संभाला.

क्रिकेट का यह नियम है कि अगर स्टम्प पर गेंद लगने के बाद भी गिल्लियां नहीं गिरतीं तो बल्लेबाज को आउट नहीं माना जाता. अब जब सिडनी टेस्ट में यह वाकया हुआ तो दिग्गज भारतीय बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने क्रिकेट के इस नियम में परिवर्तन लाने को लेकर सुझाव दे डाला. हालांकि यह सुझाव उन्होंने मजाक में ही दिया. तेंदुलकर ने पूर्व ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर शेन वॉर्न को टैग करते हुए ट्वीट किया, ‘क्या इसके लिए ‘हिटिंग द स्टंप्स’ का एक नियम शुरू कर देना चाहिए जिसमें गेंद स्टंप को हिट करे लेकिन गिल्लियां नहीं गिरें? आपको क्या लगता है? गेंदबाजों के लिए निष्पक्ष होना चाहिए.

शेन वॉर्न ने भी सचिन के इस सुझाव में हामी भरते हुए लिखा, ‘दिलचस्प पॉइंट है. इस पर बहस होनी चाहिए. मैं चर्चा के लिए इसे विश्व क्रिकेट समिति में ले जाऊंगा और फिर आपसे बात करूंगा. आज जैसा हुआ, ऐसा कभी नहीं देखा. ग्रीन की गेंद की रफ्तार 142 किमी प्रति घंटा थी और यह स्टंप पर काफी तेजी से लगी थी.’

 

 

यह भी पढ़ें- इम्यूनिटी और हार्ट को मजबूत बनाता है ओमेगा फैटी एसिड, ये हैं ओमेगा के प्राकृतिक स्रोत

0 Comments
scroll to top