Close

वनडे में नंबर-1 बॉलर बने जसप्रीत बुमराह

टीम इंडिया के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने एक बार फिर धमाल कर दिया है। वह दो साल बाद फिर से वनडे में दुनिया के नंबर-1 गेंदबाज बन गए हैं। इस मामले में उन्होंने सभी को पछाड़ दिया है. बुमराह को इंग्लैंड के खिलाफ ओवल वनडे में शानदार प्रदर्शन का फायदा मिला है।

दरअसल, इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) ने बुधवार को वनडे प्लेयर्स की ताजा रैंकिंग जारी की. इसमें जसप्रीत बुमराह 718 पॉइंट्स के साथ नंबर-1 गेंदबाज बन गए हैं। उन्होंने मंगलवार (12 जुलाई) के खेले गए ओवल वनडे में 19 रन देकर 6 विकेट झटके थे। इस परफॉर्मेंस के बदौतत बुमराह ने पांच पायदान की छलांग लगाई।

फरवरी 2020 में नंबर-1 का ताज गंवाया

जसप्रीत बुमराह दो साल बाद फिर से टॉप पर पहुंचे हैं। इससे पहले उन्होंने फरवरी 2020 में नंबर-1 का ताज गंवाया था। तब न्यूजीलैंड के ट्रेंट बोल्ट ने उन्हें नंबर-1 से हटाया था। उस वक्त बुमराह 730 दिनों तक नंबर-1 पर काबिज रहे थे। बुमराह टी20 इंटरनेशनल में भी नंबर-1 गेंदबाज रह चुके हैं। हालांकि वह अभी इस रैंकिंग में 28वें नंबर पर काबिज हैं। टेस्ट में बुमराह अपने करियर के बेस्ट यानी तीसरे नंबर पर हैं।

दूसरे भारतीय तेज गेंदबाज

बुमराह कपिल देव के बाद दूसरे भारतीय तेज गेंदबाज हैं, जो वनडे में नंबर-1 बने हैं. यदि ओवरऑल बात करें तो बुमराह और कपिल देव के अलावा मनिंदर सिंह, अनिल कुंबले और रवींद्र जडेजा भी दुनिया के नंबर-1 गेंदबाज रह चुके हैं।

शमी ने 4 पायदान की छलांग लगाई

इनके अलावा इंग्लैंड के खिलाफ ओवल वनडे में तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने भी तीन विकेट झटके थे। इसका फायदा उन्हें भी रैंकिंग में हुआ है। शमी ने 4 पायदान की छलांग लगाई है और वह अब 23वें नंबर पर पहुंच गए हैं। इनके अलावा स्पिनर रवींद्र जडेजा को 6 पायदान का नुकसान हुआ है। वह फिसलकर 40वें नंबर पर पहुंच हैं।

ओवल वनडे मैच में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड टीम 110 रनों पर ही सिमट गई थी। टीम के लिए कप्तान जोस बटलर ही 30 रन बना सके। मैच में बुमराह ने मैच में 7.2 ओवर गेंदबाजी की, जिसमें 19 रन देकर 6 बड़े विकेट हासिल किए। बुमराह को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।

बुमराह के अलावा मोहम्मद शमी ने तीन विकेट अपने नाम किए। जवाब में टीम इंडिया ने 114 रन बनाते हुए, 10 विकेट से यह मैच जीत लिया। ओपनर रोहित शर्मा 76 और शिखर धवन 31 रन बनाकर नाबाद रहे।

 

यह भी पढ़ें:-अब सालभर में स्कूली विद्यार्थियों का 9 बार होगा आकलन

0 Comments
scroll to top